LOADING

Type to search

BLOG HINDI NEWS

अंडमान के NH4 का डरावना हाल

Pankaj September 17, 2021
Share

आप खराब सड़को के बारे मे तो बहुत सुने होंगे,  आपके आस पास कितने ही ऐसे सड़क मिल जायेंगे जो बहुत  ही खराब दशा मे है। आप उनसे परेशान भी रहते होंगे, लेकिन क्या आप इतने खराब सड़को के बारे मे सुना है जिसे देखकर ही डर लग जाए ? आप गाड़ी चला कर जा रहे हो तभी आपके सामने बरसाती खेत जैसे कीचड़ नजर आने लगे, कीचड़ भी ऐसा जहां आप गाड़ी चलाना तो दूर, पैदल चलने के लिये भी सौ बार सोचेंगे ।

कुछ  दीन पहले हमने रंगत बज़ार के खराब  सड़क के उपर एक विडीओ साझा किया था। आप उस विडीओ मे देख सकते है कि एक बज़ार का सड़क का हाल कितना खराब है, लेकिन आपको जानकर ता्जुब होगा की इससे कहीं ज्यादा खराब सड़क  ग्रामीन जगहो से गुजरने वाले के है।  जैसे कि NH4 पोर्ट ब्लैर से लेकर डिगलीपुर तक बिच बिच मे इसके हालत बहुत  ही डरावना है। उन सडको पर वाहन चलाना तो दूर बलकी पैदल चलना भी असान नही है, फिर भी वाहन चालक अपने जोखीम पर वाहन चला रहे है।  क्योंकी ये एक NH4 है, लोगो को मजबूरन इसका इस्तेमाल करना पड़ रहा है, चाहे वो किसी भी दशा मे क्यों न हो।

सरकार  द्वारा  इस सड़क  के  नवनीरमान का कार्य  ठेकेदारो को दिया गाया है, लेकिन ठेकेदारो ने धूपकाला मे सड़क  के कुछ जगहो को खोद कर रख दिया , उसे पक्का बानाने के बजाय  बहुत  दिनो तक ऐसे ही रहने दिया , और जब बरसात का मौसम आया तो वो खुदा हुआ स्थान किचड मे बदलने लगा।  जिसके कारण जो NH4 खुबसूरत दिखना चाहिये था , वही आज डरावना दिख रहा है।  जो कि लोगो को परेशान भी कर रहा है।

लेकिन सवाल अब भी वही है, इसका जवाबदेही कौन है!? , ठेकेदार , सरकार या विभाग !?, सच्चायी तो ये है की अंडमान का  NH4  खतरनाक हो चुका है और इस वजह से कितने ही दुरघटना घट चुका है और घट भी रहा है।

स्थानिय लोगो का मनना है कि जो सड़क  बनकर तैयार हो रहा है उसका गुन्वकता भी बहुत  खराब है , कितने ही बार लोगो ने खराब सड़को का सिकायत भी किया , हमारी जानकारी के अनुसार  असिसटेंट कमिसनर रंगत और डेपुटी कमिसनर नोर्थ एंड मिडल अंडमान ने ठेकेदारो को सड़क मरम्मत का निर्देश भी दिये लेकिन उन्होने कुछ गड्ढो को मिट्टी से भरकर अपना काम पुरा कर दिया।  देखने मे आया  की कुछ जगहो पर गुन्वकता इतना खराब है कि बनी बनायी सड़्क अभी से खराब होने लगा है , उन जगहो को फिर से खोदकर पक्का कर दिया जाता है।  लेकिन ऐसा कब तक  चलेगा !? , ठेकेदारो का काम खतम हो जाने के बाद उस सड़क का कोइ मरम्मत करने वाला नही होगा। लोगो का मनना है की बनाए जा रहे सड़को का गुन्वकता को भी सरकार बिच बिच मे परखे।  नही तो जो अंडमान अपने खुबसूरती के लिये जाना जाता है , वही अंडमान पर भविश्य मे  NH4 के कारण एक दाग उभरकर आ जयेगा।

Tags:

You Might also Like

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *